Pratha Pratigya

पुतिन ने जांच समिति के अध्यक्ष अलेक्जेंडर बैस्ट्रीकिन के साथ क्रीमिया पुल पर किए गए हमले के सभी अहम बिंदुओं पर चर्चा की। पुतिन इसे लेकर आज देश की सुरक्षा परिषद की बैठक बुलाने वाले हैं। 

रूस-क्रीमिया जोड़ने वाले कर्च रेल-रोड ब्रिज को विस्फोट से उड़ाने की घटना को लेकर राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने जांच अधिकारियों के साथ बैठक की। पुतिन ने जांच समिति के अध्यक्ष अलेक्जेंडर बैस्ट्रीकिन के साथ क्रीमिया पुल पर किए गए हमले के सभी अहम बिंदुओं पर चर्चा की।  रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा है कि पुल को विस्फोट से उड़ाने का कृत्य आतंकी हमला था। यूक्रेन के खुफिया संगठन ने पूरे खाका को तैयार कर घटना को अंजाम दिया था। पुतिन ने कहा, यह हमला एक आतंकी कृत्य था और इसका उद्देश्य महत्वपूर्ण नागरिक आधारभूत ढांचे को नष्ट करना था। 

पुतिन बोले, प्रतिक्रिया सख्त होगी 
पुतिन ने रविवार को क्रेमलिन के टेलीग्राम चैनल पर पोस्ट किए गए एक वीडियो में कहा कि इसमें कोई शक नहीं है। यह गंभीर रूप से महत्वपूर्ण नागरिक बुनियादी ढांचे को नष्ट करने के उद्देश्य से आतंकवाद का एक कार्य है। यह यूक्रेनी विशेष सेवाओं द्वारा तैयार कार्यान्वित और आदेशित किया गया था। उन्होंने कहा कि पुल हमले के पीछे यूक्रेन के विशेष बल हाथ है। यूक्रेन ने भी तुर्की स्ट्रीम पाइपलाइन को उड़ाने की कोशिश की है। अगर रूस के खिलाफ हमले जारी रहे, तो प्रतिक्रिया कठोर होगी। 

रूसी राष्ट्रपति पुतिन ने कहा कि लंबी दूरी की मिसाइलों ने आज यूक्रेन की ऊर्जा, सैन्य और संचार केंद्रों पर हमला किया। हमारे क्षेत्र में आतंकवादी कृत्यों को अंजाम देना जारी रहा तो रूस की प्रतिक्रिया कठोर होगी, रूस उसी सख्ती से इसका जवाब देगा। पुतिन सोमवार को देश की सुरक्षा परिषद की बैठक बुलाने वाले हैं, जिसमें परिषद के उपाध्यक्ष दिमित्री मेदवेदेव ने कहा कि रूस को हमले के लिए जिम्मेदार आतंकवादियों को मारना चाहिए।

रूस ने मिसाइल हमले शुरू किए 
समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक, क्रेमलिन ने आज कहा कि यूक्रेन में उसकी सेना द्वारा लॉन्च किया गया एक विशाल मिसाइल हमला रूस के विशेष सैन्य अभियान के तहत चलाया जा रहा है। उधर, यूरोपीय संघ का कहना है कि रूस यूक्रेन के नागरिकों को युद्ध अपराध के रूप में निशाना बना रहा है। 

विस्फोट के बाद पुल हो गया था क्षतिग्रस्त 
बीते शनिवार को रूस को क्रीमिया से जोड़ने वाले एकमात्र पुल पर एक लॉरी में धमाके के बाद उड़ा दिया गया। उस दौरान सड़क व रेलवे मार्ग से गुजर रहे कई तेल टैंकरों ने आग पकड़ ली। हादसे में तीन लोगों के मौत हुई थी। इसी पुल से रूस यूक्रेन में सैन्य उपकरण भेजता है। 

क्रीमिया पर रूस ने किया 2014 में कब्जा
क्रीमिया पर रूस ने 2014 में कब्जा कर लिया था। रूस इसी पुल के जरिए यूक्रेन जंग के लिए सैन्य साजो सामान भेज रहा था। यह पुल केर्च जलडमरूमध्य पर है। इस पुल को रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने 2018 में खोला था। 

यूक्रेन कर  रहा था लगातार हमला
यह पुल यूक्रेन की सेना का प्रमुख निशाना रहा है। यूक्रेन रूसी सेना की रसद रोकने के लिए उस पर लगातार हमला कर रहा था। यह क्रॉसिंग यूक्रेन के कब्जे वाले क्षेत्र से 100 मील से अधिक दूर है।

पुतिन ने कड़ी की सुरक्षा
व्लादिमीर पुतिन ने क्रीमिया के पास केर्च ब्रिज और ऊर्जा बुनियादी ढांचे के लिए सुरक्षा कड़ी कर दी है। सुरक्षा सेवा को इसकी देखरेख की जिम्मेदारी दी गई है।राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने क्रीमिया पुल के लिए सुरक्षा उपायों को बढ़ाने पर एक आदेश पर हस्ताक्षर किए हैं। पुतिन ने क्रीमिया को रूस से जोड़ने वाले ऊर्जा पुल और गैस पाइपलाइन को सुरक्षित करने का भी आह्वान किया।

पुल पर आवाजाही शुरू
क्रीमिया के गवर्नर सर्गेई अक्सियोनोव ने बताया कि पुल पर ट्रेनों की आवाजाही शनिवार देर शाम को ही शुरू हो गई और दो यात्री ट्रेन रवाना हुईं। जबकि, फेरी ट्रेन रविवार को शुरू कर दी गईं। इसके अलावा पुल की मरम्मत कर जल्द ही सभी वाहनों के लिए खोल दिया जाएगा।  यह पुल रूस के लिए इतना अहम है है कि इसके उद्घाटन में पुतिन खुद शामिल हुए थे।

The post Russia: क्रीमिया पुल पर ब्लास्ट आतंकवाद, हमले न रुके तो और कड़ी होगी प्रतिक्रिया, पुतिन की यूक्रेन को चेतावनी appeared first on Pratha Pratigya.

By

One thought on “Russia: क्रीमिया पुल पर ब्लास्ट आतंकवाद, हमले न रुके तो और कड़ी होगी प्रतिक्रिया, पुतिन की यूक्रेन को चेतावनी”

Leave a Reply

Elon Musk paid $44 Billion Dollar to Takeover Twitter… Chelsea ready to send Gabriel Slonina away on-loan👇👇 India Won by 4 Wickets