Pratha Pratigya

रायबरेली संवाददाता गोविंद श्रीवास्तव

ऊंचाहार रायबरेली। कार्तिक पूर्णिमा के पावन अवसर पर क्षेत्र के ऐतिहासिक घाट गोकना में लाखों श्रद्धालुओं ने पतित पावनी गंगा में आस्था की डुबकी लगाई। और गंगा मइया में पुष्प व जल अर्पण कर मोक्ष व कल्याण की कामना की। आधी रात से ही घाट पर हर- हर गंगे के जयकारों से स्नान का सिलसिला शुरू हुआ जो दिनभर चलता रहा। इस अवसर पर स्नान के बाद लोगों ने मेला का आनंद लिया। मेले में बच्चों ने चाट बतासे व मिठाई व जलेबी जमकर चखा। लोगों ने जमकर खरीदारी की।

सौंदर्य प्रसाधन की की दुकानों पर महिलाओं की जमकर भीड़ रही। मेला में मनोरंजन के लिए झूले, सर्कस, जादू, नौटंकी की व्यवस्था का लोगों ने आनंद लिया। घाट पर स्नान के दौरान सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस, नाव व गोताखोर लगाए गए। वहीं मेला में सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात रही। एसडीएम, कोतवाल व तहसीलदार रात दिन डटे रहे। मां गंगा गोकर्ण जनकल्याण सेवा समिति की ओर से माइक के जरिए लोगों को गंगा को स्वच्छ व निर्मल बनाए रखने की अपील की जाती रही। समिति के महासचिव व तीर्थपुरोहित पं. जितेन्द्र द्विवेदी ने बताया कि पूर्णिमा के अवसर पर 8 से 10 लाख लोगों ने स्नान दान कर पुण्य अर्जित किया है। कार्तिक पूर्णिमा के स्नान के लिए लिए सोमवार से लोगों के आने का सिलसिला शुरू हुआ जो मंगलवार को जारी रहा। क्षेत्र के अलावा अमेठी, गौरीगंज, नसीराबाद, जायस, डीह, परसदेपुर, छतोह, अठेहा, सलोन, सूची, जगतपुर, रोहनिया आदि इलाकों से बड़ी संख्या में लोग जीप, कार, बस, टेम्पो, बाइक व बैलगाड़ी से क्षेत्र के गोकना, गोला, पूरे तीर आदि घाटों पर पहुंच कर परंपरागत रूप से स्नान ध्यान किया। पूर्णिमा की संध्या के पूर्व घाटों पर स्नानार्थियों का रेला पहुँचने लगा है। हर हर गंगे के उदघोष से घाट गुंजायमान रहा। दूरदराज से लाखों लोग विभिन्न साधनों से स्नान के लिए घाट पहुंचे। इस बार ट्रैक्टर ट्रॉली पर प्रतिबंध के चलते बैलगाड़ियां भी मेले में दिखाई दीं। लोगों ने स्नान के पश्चात मेलों का आनंद उठाया। महिलाओं व बच्चों ने जमकर मेले का आनंद लिया। मेले में लोगों के मनोरंजन के लिए झूले, सर्कस, जादूगर, नौटंकी आदि का इंतजाम रहा। जिसका लोगों ने लाभ उठाया। गोकना घाट पर लाखों लोगों के पहुंचने से प्रशासन की ओर से पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था रही। वाहनों को मेला परिसर से एक किमी पहले रोक दिया गया। भीड़ का आलम यह रहा कि चड़रई चौराहा, जमुना पुर व कोटिया के पास कई बार जाम की स्थिति बनी रही। जिसे हटाने में पुलिस को खासी मशक्कत करनी पड़ी। घाट पर किसी अप्रिय घटना से निपटने के लिए बैरिकेडिंग के साथ नाव व गोताखोर की व्यवस्था रही। एसडीएम, तहसीलदार व कोतवाल दलबल के साथ मुस्तैद रहे। मां गंगा गोकर्ण जनकल्याण सेवा समिति की ओर से लोगों को गंगा को प्रदूषण से मुक्त करने में सहयोग की अपील की जाती रही। खोया पाया की सूचना भी बराबर माइक से होती रही।

Leave a Reply

Elon Musk paid $44 Billion Dollar to Takeover Twitter… Chelsea ready to send Gabriel Slonina away on-loan👇👇 India Won by 4 Wickets